क्या अभी और मुसीबत आने वाली वाली हैं?

🌘🌗🌖🌔🌓🌒🌙🌙🌙🌙🌙🌖🌕🌖🌕🌖🌕
 अभी और मुसीबत बढ़ने के ही संकेत मिल रहे है गणना में, कारण यह है कि कुल मिलाकर इस साल 5 ग्रहण लगने वाले हैं। जिसमें से एक चंद्र ग्रहण 10 जनवरी 2020 को लग चुका है और चार ग्रहण लगने वाले हैं। 5 जून को लगने वाला चंद्र ग्रहण भारत, यूरोप, अफ्रीक, एशिया और ऑस्ट्रेलिया में दिखाई देगा।
रात्रि को 11 बजकर 15 मिनट से  6 जून को 2 बजकर 34 मिनट तक।

🌒🌓🌔 वहीं 21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत, दक्षिण पूर्व यूरोप और एशिया में दिखाई देगा।
21 जून 2020 सूर्य ग्रहण
21 जून की सुबह 9 बजकर 15 मिनट से  दोपहर 15 बजकर 03 मिनट तक लेकिन कुछ विद्वानों के अनुसार इसका समय भारत में ग्रहण का प्रारंभ सुबह 10:13:52  बजे से दोपहर 1:29: 52 सेकंड तक रहेगा।

सूर्य ग्रहण का सूतक काल ग्रहण से 12 घंटे पूर्व लग जाता है. इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं. ग्रहण के समाप्त होते ही सूतक काल भी समाप्त हो जाता है. इसके बाद ही कोई भी शुभ कार्य करना चाहिए।

राहु से संबंधित वस्तुओं का, दान करने के लिए पहले से प्रबंध कर ले ग्रहण समाप्त होने के बाद गरीबों को दान करें या आपकी जिसको भी इच्छा हो दान करें।

इस साल के सूर्य ग्रहण पर अधिकतर ज्योतिषियों की नजरें हैं क्योंकि यह ग्रहण मिथुन राशि में लगेगा। 21 जून को लगने वाले ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले ही लग जाएगा। इस साल पड़ने वाले ग्रहण बहुत महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। क्योंकि ज्योतिषियों के अनुसार इन ग्रहण से मिथुन राशि के जातकों पर विशेष प्रभाव पड़ेगा। उस समय कुल छह ग्रह वक्री होंगे जो अच्छा संकेत नहीं हैं। कहा जा रहा है कि ग्रहण के कारण ग्रहों की ऐसी स्थिति विश्व भर के लिए चिंताजनक मानी जा रही है

सुबह 08 बजकर 37 मिनट से 11 बजकर 22 मिनट तक यह अमेरिका, दक्षिण पूर्व यूरोप और अफ्रीका में दिखाई देगा।

मुझे नहीं मालूम क्या अच्छा होगा या क्या बुरा लेकिन सावधान रहे अपने घर रहे। बाकी भोले और नारायण कि कृपा
से अच्छा ही होगा जय श्री राधे कृष्णा।

अधिक जानकारी के लिए पेज को फॉलो करें।
✌️✌️✌️
👉 और भी बहुत कुछ कहता है आपकी कुंडली आपकी कुंडली में भी कारोबार पर बाहर व्यवसाय से जुड़ा हुआ या बिजनेस से जुड़ा हुआ किसी भी प्रकार की समस्या हो रही हो तो संपर्क करें और समाधान प्राप्त करें...
👇👇👇
http://astronarayan.com

Comments

Popular posts from this blog

*खुद का घर कब और कैसा होगा-*

शिव भक्त राहु

वास्तु दोष -के निवारण जाने,,,, कैसे करते हैं।