*🌷हथेली और ज्योतिष🌷*

             
*🌷जय श्री नारायण🌷*
                         पँ अभिषेक कुमार
💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥💥

*1.हथेली में अगर मछली का चिन्ह हो और कुंडली में पाप प्रभाव रहित शनि, जन्म लग्न से  12 वे भाव में हो तो व्यक्ति बहुत भाग्यवान, बुद्धिमान और नेकदिल होता है ।*

*2.हथेली में अगर मछली का चिन्ह हो और राहु कुंडली में 3 व् 6 भाव में हो तो व्यक्ति घर का चिराग होता है ।*

*3.हथेली में शेर का चिन्ह हो और पाप प्रभाव रहित सूर्य कुंडली के दूसरे भाव में हो तो व्यक्ति बहादुर, निडर और निर्दयी होता है ।*

*4.हथेली में सांप का चिन्ह हो और शनि कुंडली के 12 वे भाव में हो तो व्यक्ति रखवाला होता है - जैसे ख़ज़ाने का सांप ।*

*5.हथेली में कौवे का चिन्ह हो और शनि लग्न में और राहु-केतु कहीं भी नीच-राशि में हो तो व्यक्ति धोखेबाज़ होता है ।*

*6.हथेली में गाय - बैल का चिन्ह हो और शुक्र कुंडली के 12 वे भाव में पाप प्रभाव रहित और शुभ हो तो व्यक्ति खेती कार्य से धनवान बनता है ।*

*7.हथेली में चूल्हे का चिन्ह हो और शनि कुंडली के लग्न में हो, मंगल, लग्न से 4 थे भाव में तो व्यक्ति चोर और धोखेबाज़ होता है ।*

*8.हथेली में कमान का चिन्ह हो और मंगल कुंडली के 3 रे भाव में हो तो व्यक्ति बहादुर और निडर होता है ।*

*9.हथेली में फूल का चिन्ह हो और बुध कुंडली के 6 वे भाव में हो तो व्यक्ति धनवान और सुखी जीवन जीता है ।*

*10.हथेली में झंडे का चिन्ह हो और गुरु बृहस्पति कुंडली के 7 वे भाव में हो तो व्यक्ति बहुत धार्मिक होता है ।*

*11.हथेली में छत्र का चिन्ह हो और चंद्र कुंडली के  2 रे भाव में हो और गुरु बृहस्पति कुंडली के 4 थे भाव में हो तो व्यक्ति धनवान और यश, मान-सम्मान वाला होता है ।*

*12.हथेली में अगर रेखाओं से पहाड़ जैसा चिन्ह बने और कुंडली में सूर्य, प्रथम भाव में हो तथा बुध, सप्तम भाव में हो तो व्यक्ति महान सलाहकार बनता है । जैसे मंत्री याँ बड़ा वकील ।*

*13.हथेली में रेखाओं से किसी गाँव जैसा चिन्ह बने और कुंडली में शनि, सप्तम भाव में हो और बुध, एकादश भाव में हो तो व्यक्ति बहुत धनवान बनता है ।*

*14.हथेली में रेखाओं से ढाल जैसा चिन्ह बने ( तलवार आदि से बचाव का अस्त्र ) और कुंडली में मंगल नीच हो, पाप प्रभाव में हो, चतुर्थ भाव में हो और गुरु बृहस्पति पाप प्रभाव में होकर अष्टम भाव में हो तो व्यक्ति डरपोक, बुज़दिल और गरीब होता है ।*

*15.हथेली में रेखाओं से अगर तलवार का चिन्ह बने और कुंडली में मंगल, प्रथम भाव में हो तो व्यक्ति शत्रु पर विजय पाने वाला साहसी होता है ।*

*16.हथेली में अगर रेखाओं से घोड़े का चिन्ह बने और कुंडली में चंद्र, दूसरे भाव में हो तो व्यक्ति बहुत धनवान होता है ।*

*17.हथेली में रेखाओं से अगर मंदिर जैसा चिन्ह बने और कुण्डली में गुरु बृहस्पति द्वितीय भाव में हो तो व्यक्ति धर्म-कर्म को मानने वाला, आध्यात्मिक और सात्विक होता है ।*

*18.हथेली में विभिन्न रेखाओं से अगर चौसर याँ चौपड़ का चिन्ह बने और कुंडली में शनि, पाप प्रभाव रहित छठवे भाव में हो और केतु दशम भाव में हो तो व्यक्ति जाना-माना खिलाड़ी बनता है ।*

*19.हथेली में अगर कलम का चिन्ह बनता हो और कुण्डली में शुभ बुध, सप्तम भाव में हो तो व्यक्ति दक्ष लेखक, कलम का धनी याँ जाना-माना अकाउंटेंट बनता है ।*

*20.हथेली में अंकुश, शंख, चक्र, कुंडल याँ कान जैसा चिन्ह बने और कुण्डली में मंगल याँ गुरु बृहस्पति, लग्न में अथवा दोनों ही लग्न में हो तो व्यक्ति करोड़ों में खेलने वाला लक्ष्मीपति, धनवान होता है ।*

*21.अगर हथेली में मुसल का चिन्ह विभिन्न रेखाओं से बनता हो और कुंडली में बुध, द्वादश भाव में हो तो व्यक्ति महाकंजूस होता है ।*

*22.अगर हथेली में रेखाओं से ऊखल का चिन्ह बनता हो और कुंडली में गुरु बृहस्पति, सप्तम भाव में हो तो व्यक्ति दो वक्त की रोटी के लिये भी परेशान रहता है ।*

*23.अगर रेखाओं से हथेली में चूल्हे का चिन्ह बने और कुंडली में मंगल पाप प्रभाव से युक्त अष्टम भाव में हो तो व्यक्ति गरीब और आमदनी से परेशान रहता है ।*

*24.अगर हथेली में बड़-पीपल का चिन्ह विभिन्न रेखाओं से बनता हो और कुंडली में सूर्य-गुरु बृहस्पति दोनों साथ में प्रथम भाव याँ चतुर्थ भाव में हो तो व्यक्ति उच्च-पद पर आसीन, दूसरों से टैक्स वसूलने वाला परंतु अचानक मृत्यु पाने वाला होता है ।*

*25.अगर हथेली में विभिन्न रेखाओं से कैसा भी वृक्ष का चिन्ह बने और शनि, दशम भाव में हो तो व्यक्ति बहुत बड़ी जायदाद का मालिक होता है ।*

*26.अगर हथेली में चौकी का चिन्ह बने और शुभ प्रभाव में आया हुआ मंगल, दशम भाव में हो तो व्यक्ति साम्राज्य का स्वामी होता है ।*

*27.हथेली में अगर रथगाड़ी का चिन्ह विभिन्न रेखाओं से बनता हो और सूर्य, चतुर्थ भाव में हो तो व्यक्ति को राजा जैसी अथवा सरकारी सवारी का सुख मिलता है ।*

*28.अगर हथेली में विभिन्न रेखाओं से तराज़ू का चिन्ह बनता हो और कुंडली में बुध, शुक्र, द्वादश और सप्तम में इकट्ठे अथवा अलग-अलग हो तो व्यक्ति बहुत बड़ा व्यापारी याँ आढती होता है ।*

*29.अगर हथेली में पालकी का चिन्ह विभिन्न रेखाओं से बने और कुण्डली मे गुरु बृहस्पति, नवम भाव में हो तो व्यक्ति बहुत आराम और सुख पाने वाला होता है ।*

*30.अगर हथेली में आँख का चिन्ह बनता हो और कुंडली में शनि शुभ प्रभाव में आया हुआ एकादश भाव में हो तो व्यक्ति धोखेबाज़ी से धनवान बन जाता है ।*

*31.अगर हथेली में विभिन्न रेखाओं से नाक का चिन्ह बनता हो और कुंडली में बुध, द्वादश भाव में हो तो व्यक्ति साधारण व्यापारी होता है ।*

*32.अगर हथेली में विभिन्न रेखाओं से त्रिशूल का चिन्ह बनता हो और कुंडली में शुभ प्रभाव में आया शनि, द्वादश भाव में हो तो व्यक्ति का जीवन अच्छा गुजरता है ।*
*👉अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिये व्हाट्सअप करें=================================9472998128

Comments

Popular posts from this blog

*खुद का घर कब और कैसा होगा-*

वास्तु दोष -के निवारण जाने,,,, कैसे करते हैं।

शिव भक्त राहु